मंदिर-मस्जिद केस के फैसले को लेकर धार्मिक नगरी अयोध्‍या कड़ी सुरक्षा के घेरे में

मंदिर-मस्जिद केस के फैसले को लेकर धार्मिक नगरी अयोध्‍या कड़ी सुरक्षा के घेरे में

– अयोध्या में इस वर्ष की दुर्गा पूजा प्रदूषण मुक्त: एसपी सिटी

देहरादून। अयोध्या में इस साल एसपी सिटी ने निर्देश दिए है कि, दुर्गा पूजा को प्रदूषण मुक्त रखा जायेगा। दीपोत्सव और मंदिर-मस्जिद केस के फैसले को लेकर धार्मिक नगरी अयोध्‍या कड़ी सुरक्षा के घेरे में रहेगी। एसपी सिटी विजय पाल सिंह के मुताबिक दुर्गा पूजा के समापन से पहले इसकी भव्यता और भीड़ के मद्देनजर विसर्जन से लेकर चौराहों तक लगभग 150 जगहों पर सुरक्षा के कड़े इन्तजाम किये जा रहें है।

 

 

सिंह ने कहा कि, सुरक्षा कर लोगो में भरोसा बनाने के लिए शहर में फ्लैग मार्च किया गया, इस बार दीपोत्सव में पिछले साल की अपेक्षा ज्यादा फोर्स लगाई जायेगी। साथ ही इस बार दीपोत्सव का कार्यक्रम भरतकुंड से लेकर शहर के 12 अन्य स्थलों पर तक चलेंगे। एसपी सिटी ने यह भी बताया कि, इस अवसर पर 7 एएसपी, 20 डेप्‍युटी एसपी, 10 कंपनी अतिरिक्त फोर्स के अलावा बड़ी संख्या में इंस्‍पेक्‍टर और एसआई रैंक के अधिकारियों को तैनात किया जाएगा।

Advertisements

– नहीं होंगी सरयू में प्रतिमाएं विसर्जित….

एसपी सिटी विजय पाल ने यह भी बताया कि, सुरक्षा व्‍यवस्‍था का फाइनल प्लान तैयार हो रहा है। मंदिर-मस्जिद केस के फैसले के पहले पुख्ता सुरक्षा इंतजाम किए जाएंगे। साथ ही मेलों में सुरक्षा का जो प्लान रहता है, उसी को और सख्त किया जा सकता है। इस साल की दुर्गा पूजा प्रदूषण मुक्त रहेगी। दुर्गा पूजा समितियों से कहा गया है कि, कार्यक्रम को प्लास्टिक मुक्त रखने के साथ गुलाल और अबीर का प्रयोग प्रतिबंधित कर केवल फूलों को दुर्गा जुलूस में उड़ाएं।

 

अपनी बात को जारी रखते हुए सिंह ने बताया कि, इस पर अमल भी शुरू हो गया है। शक्ति वाहिनी टीम का भी सहयोग सुरक्षा बनाने में मिल रहा है। दुर्गा पूजा के मुख्य पर्व और शोभा यात्रा के दौरान ड्रोन कैमरे से निगरानी की व्यवस्था है। इसका डेमो भी सीओ सिटी ने चौक बाजार में किया है। वहीं बाहर से आने वाली फोर्स के लिए स्कूल, कॉलेज, धर्मशाला, मंदिर के हाल और अन्य स्थलों की तलाश हो रही है। शिक्षा विभाग के अधिकारियों से इस बाबत बात की जा रही है। जिससे स्कूल-कालेजों में फोर्स को ठहरने की व्यवस्था हो।