Exclusive: कब करेंगे मुख्यमंत्री शराब माफियाओं से यारी की दास्तान को जगजाहिर

कब करेंगे मुख्यमंत्री शराब माफियाओं से यारी की दास्तान को जगजाहिर

 

देहरादून। उच्चतम न्यायालय के आदेश को माफियाओं के हित में दरकिनार किया गया। सत्ता संभालते ही सीएम द्वारा राज्य मार्ग को जिला मार्ग में घोषित किया गया। व बता दें कि, सीएम त्रिवेंद्र के पास लोक निर्माण विभाग का जिम्मा भी है। उत्तराखण्ड के मुख्यमन्त्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के बयान ‘‘भ्रष्टाचार है तो तुरन्त बतायें’’ की कड़ी में मोर्चा द्वारा सीरियल अटैक किये जाने की घोषणा की गयी थी। जिसमें आज विकासनगर स्तिथ जनसंघर्ष मोर्चा के कार्यालय में मोर्चा अध्यक्ष रघुनाथ सिंह नेगी ने सीरियल अटैक की छटी कड़ी में अपना बयान जारी किया है।

बताते चलें कि, उक्त मामले में छटा अटैक करते हुए रघुनाथ ने कहा कि, सीएम त्रिवेन्द्र ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ग्रहण करते ही मात्र 15-20 दिन के भीतर शराब माफियाओं को लाभ पहुंचाने के लिए रातो-रात राज्य मार्ग को जिला मार्ग में घोषित कर दिया था। जबकि, राज्य मार्गों पर शराब की दुकानों पर मा० सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी थी। लेकिन जिन शराब माफियाओं की बदौलत मुख्यमंत्री पद त्रिवेन्द्र रावत को नसीब हुआ। उनका एहसान उतारने के लिए सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत, जिनके पास लोक निर्माण विभाग का जिम्मा भी है। उन्होंने दिनांक- 08/04/17 को माफियाओं के हक में आदेश जारी कर दिया।

Advertisements

 

 

नेगी ने कहा कि प्रदेश की जनता अपने हक-हकूक के लिए परेशान है। लेकिन ऐसी फुर्ती जनमानस के लिए जीरो टॉलरेंस के महाना…यक ने कभी नहीं दिखाई। मोर्चा मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत से मांग करता है कि, शराब माफियाओं से यारी/डील की दास्तान कब जगजाहिर करोगे।