टिहरी मे हुई स्कूल बस दुर्घटना की न्यायिक जांच हेतु राष्ट्रीय बाल आयोग, राज्यपाल व राज्य सरकार को भेजा ज्ञापन: (NAPSR)

टिहरी मे हुई स्कूल बस दुर्घटना की न्यायिक जांच हेतु राष्ट्रीय बाल आयोग, राज्यपाल व राज्य सरकार को भेजा ज्ञापन: (NAPSR)

देहरादून। कल दिनांक- 07/08/19 दिन बुधवार को नैशनल एसोसिएशन फॉर पैरेंट्स एंड स्टूडेंट्स राइट्स ने टिहरी के जनपद में हुई स्कूल वैन दुर्घटना को संज्ञान में लेते हुए आज नेहरु कोलोनी स्थित अपने कार्यालय पर एक मुख्य बैठक का आयोजन किया। जिसमे सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि, तत्काल इस दुर्घटना की न्यायिक जांच होनी चाहिए। जिसके लिए तुरन्त राष्ट्रीय बाल आयोग, महामहिम राज्यपाल, एवं उत्तराखंड राज्य सरकार को ज्ञापन भेजा गया।

NAPSR के इस घटना से कुछ सवाल खड़े होते हैं:

1- जब मौसम विभाग ने 2 दिन के लिए भारी बारिश की चेतावनी दी थी तो अन्य जिलों की तरह टिहरी मे विद्यालयों की छुट्टी क्यों नही की गई।

2- जो वैन दुर्घटनाग्रस्त हुई वह कितने सीटर मे पास थी और दुर्घटना के वक्त क्या वैन मे चालक परिचालक के अलावा आया मौजूद थी ।

3- जो वैन दुर्घटनाग्रस्त हुई है उसे फिटनेस कब तक कि दी गयी थी ।

4- वैन चालक ड्राइवर क्या हैवी हिल का लाइसेंस धारक था,और उसे गाड़ी चलाने का कितने साल का अनुभव था।

5- ड्राइवर का मेडिकल चेकअप कब हुआ था।

Advertisements

6- क्या स्कूल द्वारा गाड़ी मे माननीय सुप्रीम कोर्ट द्वारा सभी मानकों को पूरा किया जा रहा था। (सीट बेल्ट प्रत्येक बच्चे के लिए, पुलिस सत्यापन वाहन संबंधी कर्मचारियों का आदि)

Napsr

यदि इन सभी मानकों का पालन स्कूल वैन द्वारा नही किया जा रहा था, तो इसका संपूर्ण दोष स्कूल प्रबंधन का है। जिसके लिए मजिस्ट्रेट स्तर की जांच होनी चाहिए और स्कूल प्रिंसिपल व स्कूल के प्रबंधक के खिलाफ मुकदमा होना चाहिए और उन्हें कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। ताकि अन्य स्कूलों को इस घटना से कोई सबक मिल सके। इस मौके पर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष आरिफ खान ने कहा कि, आखिर कच्चे लालच मे लिप्त होने की सजा मिल ही गयी उपखण्ड शिक्षा अधिकारी धनवीर सिंह, पीपल डाली चौकी प्रभारी मयंक त्यागी और दुर्गेश कोठियाल को किया सस्पेंड। गांव वालों ने कई बार उपखण्ड शिक्षा अधिकारी के भ्र्ष्टाचार मे लिप्त होने की शिकायत की थी। किन्तु हमारे यहां का सिस्टम ही निराला है बिना दुर्घटना घटे कोई भी दर्द या आवाज नहीं सुनता।

 

आरिफ ने कहा कि, आखिर किस प्रकार की शिक्षा लेने भेज रहे हैं हम अपने बच्चों को। क्यों उनके जीवन से खिलवाड़ करने पर तुले हुए हैं हम? जानवरों की तरह 8 सीट की गाड़ी में 20 लोग ठूंसे हुए थे। बच्चे, ड्राईवर सहित 21 लोग स्कूली वैन में बैठे थे, हादसे में 9 बच्चे नहीं रहे,

 

दुर्घटना मे मारे गए मासूम बच्चों की उम्र दो से तेरह साल की थी, हादसे की वजह स्कूली वैन का ओवरलोड होना माना जा रहा है, ड्राइवर सीट पर भी बच्चों को बिठाया हुआ था, जिसके कारण ड्राइवर को गेर बदलने में हुई देरी, प्राथमिक जांच में यह पता लगा कि स्टेरिंग पर नियंत्रण न होने की वजह से हुआ हादसा।

आखिर शिक्षा विभाग के भ्र्ष्टाचार मे लिप्त होने और बिना मान्यता के चल रहे एंजेल इंटरनेशनल पब्लिक स्कूल के थोड़े से मुनाफाखोरी की भेंट चढ़े 09 मासूम बच्चे, NAPSR शुरू से ही बिना मान्यता के चल रहे स्कूल के पीछे शिक्षा विभाग/मान्यता देने वाले बोर्ड/बाल आयोग और पुलिस विभाग की मिलीभगत की बात कह चुका है, और इनके खिलाफ NAPSR हाई कोर्ट तक जाएगा। आज टिहरी वाली वैन दुर्घटना ने यह साबित भी कर दिया है। NAPSR इस घटना की न्यायिक जांच की मांग भी कर चुका है। आप कब जागेंगे ….?

 

साशन प्रशासन से निवेदन है कि, शिकायती पत्र पर कार्यवाही कर प्रार्थी को अवगत कराने की कृपा करें ।
आज की इस बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष आरिफ खान संग राष्ट्रीय उपाध्यक्ष नवीन लिंगवाल, राष्ट्रीय महासचिव एडवोकेट सुदेश उनियाल, राष्ट्रीय सचिव धर्मेन्द्र ठाकुर, दीपचन्द वर्मा, सह सचिव अशोक सेमवाल, मनमोहन साहनी, मधु मारवाह, जी०एस०जस्सल, अमरजीत सिंह भाटिया, उमा सिसोदिया, हितेन्द्र सक्सेना, विश्वम्भर नाथ बजाज, भारती सकलानी, विनोद काम्बोज,सीमा नरूला, कविता खान, इत्यादि उपस्थित रहे।