ड़ीजे की धुन पर थिरके भाजपाइ, मासूमों के घरों में नहीं जले चूल्हे

ड़ीजे की धुन पर थिरके भाजपाइ, मासूमों के घरों में नहीं जले चूल्हे…..

देहरादून। उत्तराखण्ड के पहाड़ों में कल दो रूह कंपा देने वाले दर्दनाक हादसे हुए, दो अलग-अलग जगह घटी दुर्घटनाओं में लगभग डेढ़ दर्जन लोगों की जानें गई और कई लोग चोटिल भी हुए। जिसके सन्दर्भ में कल सीएम त्रिवेन्द्र रावत ने भी अपने ट्विटर एकाउंट पर ट्वीट कर शोक जताया था। लेकिन कल भाजपा के प्रदेश कार्यालय में भाजपा नेता बेशर्मी से जम्मू कश्मीर के मुद्दे पर ठुमके लगाते नज़र आए खुशी मानते नजर आए।

भाजपा ने मनाया शौक

ड़ीजे की धुन पर थिरकने वाले भाजपाइयों की खबर को कल ही न्यूज़ पोर्टल ने फ़्लैश कर दिया था। कि, एक ओर तो टिहरी जनपद में हुए दर्दनाक हादसे में मासूमों की मौत हो गई दूसरी और भाजपा नेता कश्मीर के मुददे पर ठुमके लगाते नहीं थक रहे। इसी सन्दर्भ में कल उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने इसे बीजेपी नेताओं की संवेदनहीनता करार देते हुए कहा कि, कम से कम आज बीजेपी को इस प्रकार की खुशियां मनाने से परहेज करना चाहिए था। लेकिन आज के समाचार पत्रों ने भाजपा की बिग ब्रांडिंग करते हुए अपने समाचार पत्रों में केवल भाजपा द्वारा शोक मनाने वाली खबर को ही प्रकाशित किया।

Advertisements

 

बाकायदा इसके अपने अखबारों में भाजपा के नाच गाने वाली खबर का प्रकाशन नहीं किया। इस पूरे प्रकरण को देख तो यही अनुमान लगाया जाता है कि, बड़े समाचार पत्र भाजपा के पक्ष में है। उन्हें सच्चाई की खबरों का प्रकाशन करने में कोई रुचि नहीं है। और समाचार पत्रों को सिर्फ गोदी दलाल मीडिया ही बनना पसंद है। ऐसा हम नहीं कह रहे है ऐसा विपक्षी पार्टी व क्षेत्रीय दलों का कहना है। क्योंकि, समाचार पत्रों ने इस खबर गायब कर सिर्फ शोक मनाने की खबर को ही प्रकाशित किया। इसीलिए अब विपक्षी दल व आम जनता अखबारों को गोदी मीडिया कहने लगे हैं।

भाजपा ने मनाया शौक2

अखबार अब खबर दिखाते नहीं, बल्कि छुपाते हैं। बाकायदा नेताओं को यह भी बताते हैं कि, कैसे फोटो सेशन करके जनता को कौन सा मैसेज देना ठीक रहेगा। इसलिए आज अखबारों से यह खबर गायब करके सिर्फ यह दिखाया गया कि, भाजपाइयों ने शोक जताया ने घाटी में घटी घटना पर शोक जताया। भाजपा की इस तरह ब्रांडिंग करने से अखबारों की कितनी इज्जत बढ़ेगी और भाजपा की कितनी ब्रांडिंग होगी यह एक सोचनीय विषय है।