सीएम ने दी पिथौरागढ़ में हैलीकॉप्टर तैनाती की स्वीकृति। आपदा के समय मिलेगी तत्काल राहत

91

सीएम ने दी पिथौरागढ़ में हैलीकॉप्टर तैनाती की स्वीकृति। आपदा के समय मिलेगी तत्काल राहत

देहरादून। धारचूला विधायक हरीश धामी की मांग पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अतिवृष्टि एवं अन्य दैवीय आपदा के समय तत्काल राहत कार्यों हेतु पिथौरागढ़ में दो माह के लिये हैलीकॉप्टर तैनाती की स्वीकृति प्रदान की है। इस पर हरीश धामी सहित संपूर्ण जनपदवासियों ने सीएम का आभार जताया है।

बताते चलें कि, बीती आठ जुलाई को जब धारचूला विधायक हरीश धामी ने देहरादून में नए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मुलाकात की तो उन्होंने धारचूला विधानसभा समेत संपूर्ण पिथौरागढ़ जनपद की विषम भौगोलिक विषमताओं के साथ ही आपदा के लिहाज से अति संवेदनशील जिले की स्थिति से अवगत कराते हुए सबसे पहले यही मांग रखी थी कि क्षेत्र में आपदा प्रभावितों, गंभीर रूप से घायल लोगों एवं गंभीर रोगों से ग्रस्त मरीजों के लिए एयर एंबुलेंस एवं हैली सेवा की व्यवस्था की जाए।विधायक हरीश धामी की मांग पर सकारात्मक पहल करते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी द्वारा जो निर्णय लिया गया, वह जनहित में अत्यंत सराहनीय माना जा रहा है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पिथौरागढ़ में दो माह के लिये हैलीकॉप्टर तैनाती की स्वीकृति प्रदान की है। उन्होंने यह भी निर्देश दिये है कि, जब हेलीकाप्टर की आपदा राहत कार्यों के लिए आवश्यकता न हो, तब हैलीकॉप्टर का उपयोग रियायती दरों पर भुगतान के आधार पर जन सामान्य हेतु वैकल्पिक यातायात के रूप में किया जाए, परंतु ऐसा तभी किया जाए, जब हेलीकाप्टर की आपदा राहत कार्यों में जरूरत नहीं हो।

आपदा में प्रयुक्त घंटों के अतिरिक्त घंटों में हैलीकॉप्टर का उपयोग रियायती दरों पर भुगतान के आधार पर जन सामान्य हेतु वैकल्पिक यातायात के रूप में करने के लिए मुख्यमंत्री ने प्रतिव्यक्ति निर्धारित रूपये तीन हजार की किराये की दर को मंजूरी प्रदान की है। इस हैलीकॉप्टर को निर्धारित शर्तों के अधीन दो माह के लिये पिथौरागढ़ में तैनात किये जाने के निर्देश भी मुख्यमंत्री ने दिये हैं।

बहरहाल सीएम के इस निर्णय की पिथौरागढ़ जनपद वासियों के बीच खूब सराहना की जा रही है। इससे बरसात के अति खराब मौसम में जनपदवासियों को लाभ मिलेगा।

Previous articleएक्सक्लूसिव: मरीजों के सामने डाक्टर से अभद्रता, दुखी डाक्टर ने दिया इस्तीफा
Next articleवीडियो: श्यामपुर में नदी का जलस्तर बढ़ने से चार मजदूर उफनती नदी में फंसे